राष्ट्रीय न्यास

राष्ट्रीय न्यास स्वपरायणता, प्रमस्तिष्कघात, मानसिक मंदता और बहु-विकलांगताग्रसित व्यक्तियों के कल्याण के लिए

क्षमता विकास, बढ़ाएं विश्वास
Menu
भारत की विकास यात्रा को नवीन ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए हमें आपके सहयोग, आशीर्वाद और आपकी सक्रिय भागीदारी की अपेक्षा है। " signature

राज्य नोडल एजेंसी सेंटर (एस एन ए सी)

राज्य नोडल एजेंसी सेंटर (एस.एन.ए.सी.) राज्य/संघ राज्य स्तर पर राष्ट्रीय न्यास का संस्थागत प्रबन्धन है, जो न्यास कि गतिविधियों का समर्थन तथा क्रियान्वयन में मदद करती है। राष्ट्रीय न्यास के साथ पंजीकृत प्रतिष्ठित और सुव्यवस्थित गैर सरकारी संगठनों में से प्रत्येक राज्य/संघ राज्य क्षेत्र में एक राज्य नोडल एजेंसी सेंटर नियुक्त किया जाता है।

क्या आप जानते हैं?

  • प्रत्येक राज्य नोडल एजेंसी सेंटर को अपने क्षेत्र से संबंधित "जानकारी" रखनी चाहिए। यानी, अन्य गैर सरकारी संगठनों, सरकारी पदाधिकारियों और अपने क्षेत्र के अन्य हितधारकों के बारे में व्यापक जानकारी रखनी चाहिए। निर्धारित प्रारूप में एक डेटा बेस तैयार किया है और राष्ट्रीय न्यास के साथ साझा किया गया है।
  • प्रत्येक राज्य नोडल एजेंसी सेंटर द्वारा राष्ट्रीय न्यास की गतिविधियों के क्रियान्वयन के लिए एक समन्वयक नियुक्त किया जाना चाहिए।    
  • राज्य नोडल एजेंसी सेंटर का अधिकार क्षेत्र पूरे राज्य/केन्द्र शासित प्रदेश में है।
  • राज्य सरकार के साथ बातचीत तथा संपर्क के लिए मंच प्रदान करने और दिव्यांगजनों के कल्याण से संबंधित गतिविधियों के क्रियान्वयन में विभिन्न हितधारकों के बीच अधिक से अधिक समन्वय और सहयोग को सुनिश्चित करने के लिए राज्य सचिव की अध्यक्षता में एक राज्य स्तरीय समन्वय समिति (एस.एल.सी.सी.) और एस.एन.ए.सी. को संयोजक (सदस्य सचिव) के रूप में गठित किया गया है।  

 

एस.एन.ए.सी. की सूची देखने के लिए यहां क्लिक करें

अंतिम नवीनीकृत: 31-12-2019

आगंतुक संख्या: 333038