राष्ट्रीय न्यास

राष्ट्रीय न्यास स्वपरायणता, प्रमस्तिष्कघात, मानसिक मंदता और बहु-विकलांगताग्रसित व्यक्तियों के कल्याण के लिए

क्षमता विकास, बढ़ाएं विश्वास
Menu
भारत की विकास यात्रा को नवीन ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए हमें आपके सहयोग, आशीर्वाद और आपकी सक्रिय भागीदारी की अपेक्षा है। " signature

प्रेरणा
(विपणन सहयोग)

योजना को डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

नामांकन के लिए यहां क्लिक करें

योजना के बारे में

  1. प्रेरणा दिव्यांगजनों द्वारा उत्पादित वस्तुओं की बिक्री के लिए एक व्यवहार्य और व्यापक चैनल के निर्माण के उद्देश्य से शुरू की गयी विपणन सहायता योजना है।  
  2. इस योजना का उद्देश्य दिव्यांगजनों द्वारा बनाए गए उत्पादों को बेचने के लिए प्रदर्शनियों, मेलों जैसे आयोजनों में भाग लेने के लिए पंजीकृत संगठनों को धन उपलब्ध कराना है।
  3. इस योजना के तहत उत्पादों की बिक्री के आधार पर पंजीकृत संगठनों (आरओ) को प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाती है।  
  4. राष्ट्रीय न्यास दिव्यांगजनों द्वारा बनाये गये उत्पादों के विपणन और बिक्री के लिए मेलों, प्रदर्शनियों आदि में राष्ट्रीय, क्षेत्रीय, राज्य और जिला स्तर के कार्यक्रमों में पंजीकृत संगठनों की भागीदारी के लिए निधि उपलब्ध करायेगा।
  5. राष्ट्रीय न्यास अधिनियम के तहत इस प्रकार के कार्यों के लिए कर्मचारियों की संख्या में कम से कम 51% दिव्यांगजनों को शामिल किया जाना आवश्यक है।
योजना का विवरण

इस योजना का उद्देश्य दिव्यांगजनों द्वारा बनाए गए उत्पादों को बेचने के लिए प्रदर्शनियों, मेलों जैसे आयोजनों में भाग लेने के लिए पंजीकृत संगठनों को धन उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत उत्पादों की बिक्री के आधार पर पंजीकृत संगठनों (आरओ) को प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाती है।

I. प्रदर्शनियों में भाग लेने के लिए सहायता

राष्ट्रीय न्यास दिव्यांगजनों द्वारा बनाये गये उत्पादों के विपणन और बिक्री के लिए मेलों, प्रदर्शनियों आदि में राष्ट्रीय, क्षेत्रीय, राज्य और जिला स्तर के कार्यक्रमों में पंजीकृत संगठनों की भागीदारी के लिए निधि उपलब्ध करायेगा। राष्ट्रीय न्यास अधिनियम के तहत इस प्रकार के कार्यों के लिए कर्मचारियों की संख्या में कम से कम 51% दिव्यांगजनों को शामिल किया जाना आवश्यक है।

पंजीकृत संगठन अगर उल्लेखित प्रक्रिया के अनुसार किसी कार्यक्रम में भाग लेना चाहते है तो उन्हें प्रत्येक कार्यक्रम के लिए अलग-अलग प्रस्ताव प्रस्तुत करना आवश्यक होगा। इस योजना में राष्ट्रीय न्यास को आवंटित कोई भी स्थायी स्टाल शामिल नहीं होगा । 

पंजीकृत संगठनों द्वारा अगर किसी भी कार्यक्रम में विवरणिका तैयार किया गया या वितरित किया गया है तो राष्ट्रीय न्यास द्वारा उन्हें निधि (एक वर्ष में 10,000 रुपये तक) उपलब्ध करायी जाएगी।

II. बिक्री कारोबार पर प्रोत्साहन राशि

राष्ट्रीय न्यास द्वारा जिला कलेक्टर (डीसी) या जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) या स्थानीय स्तरीय समिति (एलएलसी) या समाज कल्याण अधिकारी के सत्यापन के बाद दिव्यांगजनों द्वारा उत्पादित वस्तुओं की बिक्री के लिए वार्षिक आधार पर पंजीकृत संगठनों को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी।

पंजीकृत संगठनों को यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए की प्रोत्साहन राशि का ज्यादातर हिस्सा दिव्यांगजनों के कौशल में सुधार लाने या उनकी उत्पादकता में सुधार करने या उनकी भलाई के लिए इस्तेमाल हो। राष्ट्रीय न्यास द्वारा पंजीकृत संगठनों से प्रोत्साहन राशि के उपयोग का विवरण नहीं लिया जाएगा।

अनुदान (शुल्क) का विवरण

राष्ट्रीय न्यास निम्नलिखित दो बिन्दुओं के तहत प्रेरणा योजना के लिए आरओ को धन उपलब्ध कराता हैः

I. कार्यकर्मो में भाग लेने के लिए सहायता

यह राशि राष्ट्रीय, क्षेत्रीय, राज्य और जिला स्तर के कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए पंजीकृत संगठनों को प्रदान की जाएगी तथा इसका भुगतान एक बार में किया जाएगा।

  • भुगतान पंजीकृत संगठनों द्वारा भाग लिये जाने वाले कार्यक्रम के स्तर पर आधारित होगा।
  • राष्ट्रीय न्यास किसी भी श्रेणी के प्रत्येक पंजीकृत संगठन के लिए एक वर्ष में अधिकतम 4 कार्यक्रमों के लिए प्रायोजक होगा।
  • राष्ट्रीय न्यास द्वारा निम्न तालिका में वर्णित कार्यक्रम के अनुसार राशि आवंटित की जाएगी। निर्धारित राशि से ऊपर के किसी भी खर्च की जिम्मेदारी पंजीकृत संगठन की होगी।
  • इस योजना के तहत दी जाने वाली राशि केवल कार्यक्रम की अवधि (अधिकतम 5 दिन के लिए) के लिए ही प्रदान की जाएगी और इसमें यात्रा, स्टाल लगाने आदि के दिन को शामिल नहीं किया जाएगा।
  • अगर पंजीकृत संगठन को किसी भी राष्ट्रीय, राज्य, जिला, केन्द्र या किसी अन्य सरकारी विभाग, मंत्रालय या संगठन द्वारा शुल्क रहित स्टाल आवंटित किया जा रहा है, तो प्रदान की जाने वाली धनराशि 25% तक कम हो जाएगी ।
  • इस योजना में राष्ट्रीय न्यास को आवंटित कोई भी स्थायी स्टाल को शामिल नहीं किया जाएगा।

II. कुल बिक्री पर प्रोत्साहन राशि

प्रत्येक वर्ष के अंत में पंजीकृत संगठन को दिव्यांगजनों द्वारा बनाए गए उत्पादों और सेवाओं की कुल बिक्री पर प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। कुल बिक्री की गणना केवल उन उत्पादों और सेवाओं के लिए की जाएगी जहाँ राष्ट्रीय न्यास के तहत कार्य केन्द्रों में न्यूनतम 51% दिव्यांगजनों की भागीदारी शामिल हो।

प्रोत्साहन राशि का निर्धारण प्रेरणा योजना के तहत आवेदन करने वाले पंजीकृत संगठनों या राष्ट्रीय न्यास के तहत पंजीकृत संगठनों द्वारा चलाए जा रहें कार्य केन्द्रों में बनाये गए उत्पादों या सेवाओं के आधार पर किया जाएगा।

III. विवरणिका का भुगतान

अगर कोई पंजीकृत संगठन नए विवरणिका का डिजाइन और प्रिंट करता है, तो वह निम्न शर्तों को पूरा करने के बाद विवरणिका डिजाइन और प्रिंट की खर्च लागत का दावा करने के पात्र है:

  • पंजीकृत संगठन को राष्ट्रीय न्यास द्वारा दी जाने वाली सहायता का उल्लेख विवरणिका में किया जाना चाहिए।
  • विवरणिका के लिए भुगतान तभी किया जाएगा जब विवरणिका का निर्माण और प्रिंट चालू वित्त वर्ष (यानि 1 अप्रैल से 31 मार्च तक) में किया गया हो।
  • 1 से अधिक विवरणिका की लागत का भुगतान निम्न तालिका में उल्लेखित राशि की अधिकतम सीमा के अनुसार किया जाएगा।
  • विवरणिका की लागत का भुगतान तभी किया जाएगा जब पंजीकृत संगठन द्वारा चालू वित्तीय वर्ष में राष्ट्रीय न्यास द्वारा प्रायोजित कम से कम 1 कार्यक्रम में भाग लिया गया हो।
  • इस राशि का भुगतान किसी भी वित्तीय वर्ष में केवल एक बार ही किया जायेगा। पंजीकृत संगठन वित्तीय वर्ष के दौरान कभी भी या संबंधित वित्तीय वर्ष की समाप्ति से 2 महीने के भीतर भुगतान के लिए अनुरोध कर सकते है।

ऊपर वर्णित बिन्दुओं के लिए राशि का भुगतान इस प्रकार हैः

क्रम संख्या भुगतान का प्रकार राशि (भारतीय रु. में) राशि वितरण की समय-सीमा
I. कार्यकर्मो में भागीदारी के लिए सहायता राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रम – 30,000/- रु.
  1. क्षेत्रीय स्तर के कार्यक्रम (कम से कम 5 राज्यों में भागीदारी) - 25,000/- रु.
  2. राज्य स्तर के कार्यक्रम - 20,000/- रु.
  3. जिला स्तर के कार्यक्रम - 10,000/- रु.
यदि पंजीकृत संस्था को आबंटित स्टाल किसी राष्ट्रीय / राज्य / जिला / केंद्रीय अथवा अन्य सरकारी विभाग, मंत्रायल अथवा किसी अन्य संस्था द्वारा नि:शुल्क आबंटित किया जा रहा है तो राष्ट्रीय न्यास द्वारा प्रदान की जा रही धन राशि २५ % कम कर दी जाएगी।
कार्यक्रम के अनुसार राशि का एक बार में आवंटन
II. बिक्री पर प्रोत्साहन राशि दिव्यांगजनों द्वारा तैयार उत्पादों और सेवाओं की कुल बिक्री पर 10% की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। यह राशि प्रत्येक वित्तीय वर्ष के अंत में एक बार में दी जाएगी।
III. नए विवरणिका के वितरण, डिजाइन और मुद्रण के लिए भुगतान 10,000 यह राशि प्रत्येक वित्तीय वर्ष के अंत में एक बार में दी जाएगी।

 

पात्रता मापदंड

. पंजीकृत संगठन की पात्रता  

  1. संगठन को राष्ट्रीय न्यास के साथ पंजीकृत होना चाहिए। 
  2. संगठन को नामांकन के समय पर विकलांगता अधिनियम 1995 के अंतर्गत वैध रुप से पंजीकृत होना चाहिए।
  3. संगठन को राष्ट्रीय न्यास अधिनियम के तहत चार प्रकार की विकलांगता में से किसी एक में एक वर्ष के अनुभव के साथ ही दिव्यांग व्यक्तियों के साथ कम से कम 2 वर्ष काम करने का अनुभव होना चाहिए।
  4. गैर-सरकारी संगठन को पंजीकरण के समय राष्ट्रीय न्यास या किसी भी अन्य सरकारी संगठन द्वारा ब्लैक लिस्ट नहीं होना चाहिए।    

पंजीकृत संगठनों के लिए पात्रता मापदंड

पंजीकृत संगठनों को प्रेरणा योजना में पंजीकरण के लिए निम्नलिखित पात्रता मानदंडों को पूरा करना आवश्यक है -  

क्रम संख्या पात्रता मापदंड आवश्यक प्रमाण-पत्र
1. संगठन को राष्ट्रीय न्यास के साथ पंजीकृत होना चाहिए।  राष्ट्रीय न्यास अधिनियम के तहत वैध पंजीकरण प्रमाण पत्र।
2. संगठन को राष्ट्रीय न्यास अधिनियम के तहत चार प्रकार की विकलांगता में से किसी एक में एक वर्ष के अनुभव के साथ ही दिव्यांग व्यक्तियों के साथ कम से कम 2 वर्ष काम करने का अनुभव होना चाहिए। पंजीकृत संगठन द्वारा कार्य के ब्यौरे का प्रमाण-पत्र    
3. गैर-सरकारी संगठन को पंजीकरण फार्म जमा करते समय राष्ट्रीय न्यास या किसी भी अन्य सरकारी संगठन द्वारा ब्लैक लिस्ट नहीं होना चाहिए।   पंजीकृत संगठन द्वारा प्रमाण-पत्र
4. संगठन को पंजीकरण फार्म जमा करते समय विकलांगता अधिनियम के साथ पंजीकृत होना चाहिए। पंजीकरण प्रमाण/प्रमाण-पत्र

कार्य केन्द्र की पात्रता

  1. केवल उन कार्य केन्द्रों से उत्पादों या सेवाएं मान्य होगी जहां राष्ट्रीय न्यास अधिनियम द्वारा काम कर रहे व्यक्तियों में कम से कम 51% तक दिव्यांग व्यक्तियों को कवर किया जा रहा हो। 
  2. कार्य केंद्रों में कार्यरत दिव्यांग व्यक्तियों की आयु 14 वर्ष से ऊपर होनी चाहिए। 
  3. कार्य केन्द्र को राष्ट्रीय न्यास के पंजीकृत संगठन द्वारा चलाया जाना चाहिए। 

कार्य केन्द्रों के लिए पात्रता मापदंड

कार्य केन्द्रों को प्रेरणा योजना में पंजीकरण के लिए निम्नलिखित मानदंडों को पूरा करना आवश्यक हैः- 

  1. केवल उन कार्य केन्द्रों से उत्पाद या सेवाएं मान्य होगी जहां राष्ट्रीय न्यास अधिनियम द्वारा काम कर रहे व्यक्तियों में कम से कम 51% तक दिव्यांग व्यक्तियों को कवर किया जा रहा हो।
  2. कार्य केंद्रों में कार्यरत दिव्यांग व्यक्तियों की आयु 14 वर्ष से ऊपर होनी चाहिए।
  3. कार्य केन्द्र को राष्ट्रीय न्यास के पंजीकृत संगठन द्वारा चलाया जाना चाहिए।

 

नामांकन प्रक्रिया

पंजीकृत संगठनों (आरओ) के लिए नामांकन प्रक्रिया

  1. ऑनलाइन विकास आवेदन फार्म को भरें और आवश्यक दस्तावेज़ों को स्कैन करके अपलोड करें*
  2. राष्ट्रीय न्यास पोर्टल पर फार्म को जमा करें।
  3. 1000 रु. के आवेदन शुल्क का ऑनलाइन भुगतान करें।  
  4. भरे गये फार्म का प्रिंट आउट ले और आवश्यक दस्तावेजों के साथ इसे राष्ट्रीय न्यास के पते पर भेज दे। आवेदन 7 दिनों के भीतर भेज दिया जाना चाहिए और 15 दिनों के भीतर राष्ट्रीय न्यास कार्यालय में पहुंच जाना चाहिए।

 

पंजीकरण नामांकन (प्रथम अनुमोदन) प्रक्रिया

आरओ नामांकन प्रक्रिया वार्षिक आधार पर प्रेरणा योजना के नामांकन के लिए आवश्यक प्रकियाओं को स्पष्ट करती है। इसके साथ ही यह आवश्यक जानकारी, दस्तावेजों के विवरण और प्रत्येक गतिविधि के लिए निर्धारित समय-सीमा को भी स्पष्ट करती है।

पहला चरण - राष्ट्रीय न्यास के साथ पंजीकृत गैर सरकारी संगठन को जारी किये गए यूजर आईडी और पासवर्ड द्वारा राष्ट्रीय न्यास वेबसाइट पर लॉगइन करना चाहिए।

दूसरा चरण - संगठन को 1000 रु. के आवेदन शुल्क के साथ ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करना चाहिए और निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करना चाहिएः-

  1. ऑनलाइन प्रेरणा आवेदन फार्म को भरें और आवश्यक दस्तावेज़ों को स्कैन करके अपलोड करें*
  2. राष्ट्रीय न्यास पोर्टल पर फार्म को जमा करें।
  3. 1000 रु. के आवेदन शुल्क का ऑनलाइन भुगतान करें।   
  4. भरे गये फार्म का प्रिंट आउट ले और आवश्यक दस्तावेजों के साथ इसे राष्ट्रीय न्यास के पते पर भेज दे।

*नामांकन के लिए पंजीकृत संगठनों द्वारा निम्नलिखित दस्तावेज प्रस्तुत/उपलोड किया जाना  चाहिए।

  1. पात्रता मानदंडों को पूरा करने से संबंधित सभी आवश्यक दस्तावेज।
  2. आरओ द्वारा निम्नलिखित मौजूदा स्थापना के बारे में प्रमाण-पत्र प्रस्तुत किया जाना चाहिए।
    • आरओ द्वारा वर्तमान में किये जा रहे कार्यों का विवरण।
    • कार्य केन्द्रों (अगर कोई हो तो) और आरओ द्वारा निर्मित किये जा रहे उत्पादों का विवरण।
    • पिछले 3 वर्षों में राष्ट्रीय न्यास से संबंधित मेलों, प्रदर्शनियों और अन्य मार्केटिंग गतिविधियों में भागीदारी का संक्षिप्त विवरण।
    • योजना का घोषणा पत्र या योजना के नियम और शर्तों की स्वीकृति का प्रमाण-पत्र।

तीसरा चरण - राष्ट्रीय न्यास को आवेदन फार्म प्राप्त होने के बाद इसे सत्यापित किया जाएगा। अगर कोई सूचना/दस्तावेज गलत है या कोई दस्तावेज छूट गया है, तो इसे फिर से भेजा जा सकता है, आरओ के द्वारा दस्तावेज भेजने के लिए 15 दिन का समय दिया जाता है।

चौथा चरण - आवेदन/प्रस्ताव पर अंतिम निर्णय सभी आवश्यक औपचारिकताओं और प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद लिया जाएगा। दस्तावेजों के सत्यापन के आधार पर अगर संगठन योजना मानदंड और आवश्यकताओं को पूर्ण करता है, तो आवेदन को मंजूरी दी जाती है। किसी विसंगति के मामले में संगठन को सूचित किया जाएगा।

आवेदन प्राप्ति के 30 दिनों के भीतर राष्ट्रीय न्यास द्वारा संगठन से संपर्क किया जाएगा। राष्ट्रीय न्यास द्वारा आरओ के लिए सूचना प्राप्ति के समय से 30 दिनों के भीतर किया जाएगा। आवेदन प्राप्ति का निर्धारण सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ ऑनलाइन फार्म जमा करने की तारीख और समय से किया जाएगा।

पांचवा चरण - पांचवे चरण में नामांकन पूर्ण होना प्रदर्शित होगा तथा आरओ के लिए एक आईडी बनायी जाएगी और इसके संबंध में आरओ को सूचित किया जाएगा।

छठा चरण - राष्ट्रीय न्यास द्वारा आरओ को प्रेरणा योजना की पूरी जानकारी युक्त एक स्टार्टर किट/प्रेरणा हैंडबुक दी जाएगी।

 

अंतिम नवीनीकृत: 31-12-2019

आगंतुक संख्या: 360645